भारतीय मुद्रा एवं मुद्रा प्रिंटिंग (Indian Currency and Currency Printing in India)

मुद्रा (Currency) पैसे या धन के उस रूप को कहते हैं जिस से दैनिक जीवन में क्रय और विक्रय होती है। इसमें सिक्के और कागज के नोट दोनों आते हैं। भारत में मुद्रा प्रिंटिंग (Currency Printing) रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया करता है।

भारतीय मुद्रा (Indian Currency)

भारत की राष्ट्रीय मुद्रा रुपया (Rupee) है। एक रुपए में 100 पैसे होते है। भारतीय मुद्रा का प्रतीक चिह्न (Symbol) है। भारत सरकार ने 15 जुलाई 2010 को इस चिह्न को स्वीकार किया। यह चिह्न भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), मुंबई के डी. उदय कुमार ने बनाया था।

नए प्रतीक चिह्न के आने से पहले रुपए को हिंदी में दर्शाने के लिए ‘रु’ और अंग्रेजी में Rs. का प्रयोग किया जाता था। भारतीय मुद्रा (Indian Currency) सिक्‍के (Coins) और रुपए (Rupee) के रूप में उपलब्‍ध है।

भारतीय नोट कौन जारी करता है? (Who Issues Indian Notes?)

RBI Act 1934 के Section 22 के तहत देश में नोट छापने (Printing of Paper Currency) के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India-RBI) के पास एकाधिकार (Solely Responsible) है।

भारतीय नोट (Indian Paper Currency) की डिजाइनिंग (Designing), प्रोडक्‍शन (Production), सप्‍लाई (Supply) और संपूर्ण प्रबंधन (Overall Management) Reserve Bank of India ही करता है।

आरबीआई के पास एक रुपए के नोट को छोड़कर सभी प्रकार के नोट जारी करने का अधिकार है। एक रुपए का नोट वित्त मंत्रालय (Ministry of Finance) द्वारा जारी किया जाता है।

केंद्र सरकार (Central Government) भारतीय रिज़र्व बैंक के केंद्रीय बोर्ड की सिफारिश पर बैंकनोटों के डिजाइन को मंजूरी देती है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 1938 में पहला भारतीय नोट (First Paper Currency) 5 रुपए का जारी किया था। इस पर जॉर्ज VI (George VI) का portrait था। इसी साल 10, 100, 1000 और 10000 के नोट भी जारी किए गए।

न्यूनतम रिजर्व प्रणाली (Currency Printing: Minimum Reserve System)

नोटों को जारी करने/छपाई के लिए रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) 1956 की न्यूनतम रिजर्व प्रणाली (Minimum Reserve System) को अपनाता है।

इस प्रणाली में नवंबर 1957 में संशोधन किया गया, जिसके तहत रिजर्व बैंक सोने (Gold) और विदेशी मुद्रा भंडार के रूप में 200 करोड़ रूपए रिजर्व रखता है जिनमें से कम-से-कम 115 करोड़ रूपए सोने के रूप में और शेष विदेशी मुद्राओं के रूप में होनी चाहिए।

इस 200 करोड़ की धनराशि को रखने के बाद रिजर्व बैंक जरुरत के हिसाब से कितनी भी मुद्रा को छाप सकता है। हालांकि उसे भारत सरकार (Indian Government) से अनुमति लेनी पड़ती है।

भारतीय नोट की प्रिंटिंग (Printing of Indian Notes: Currency Printing)

देश में चार जगहों पर नोट छापे जाते है। भारतीय रिज़र्व बैंक (Reserve Bank of India -RBI) की 4 प्रिंटिंग यूनिट (Printing Unit)- नासिक (Nasik-Western India), देवास (Dewas-Central India), मैसूर (Mysore-Southern India) और शालबनी (Salboni-Eastern India) में है।

इन 4 प्रिंटिंग यूनिट में नासिक (Nasik) और देवास (Dewa) भारत सरकार के पास है जबकि 2 प्रेस यूनिट BRBNMPL संभालती है।

RBI Act 1934 के Section 24 के तहत RBI अधिकतम 10 हजार तक का नोट छाप सकती है।

5, 10, 20, 50, 100, 500 और 1000 के बैंक नोट (Bank Note) छापे जाते है। 1 और 2 रुपए के नोट की छपाई अब बंद की जा चुकी है।

अपने नोट को पहचाने (Know Your Bank Notes)

भारतीय नोट (India Note) पर कुल 17 भाषाएं (Languages) लिखी होती है। इनमें हिंदी व अंग्रेजी (Hindi and English) फ्रंट साइड (Front Side) पर है।

15 ऑफिशियल भाषाएं (Official Languages-Assamese, Bengali, Gujarati, Kannada, Kashmiri, Konkani, Malayalam, Marathi, Nepali, Odia, Punjabi, Sanskrit, Tamil, Telugu, Urdu) Backside में होती है।

AmountSizeColorReverse Side
200066mm x 166mmMagentaMangalyaan
50066mm x 150mmStone GreyRed Fort
20066mm x 146mmBright YellowSanchi Stupa
10066mm x 142mmLavenderRani ki Vav
5066mm x 135mmFluorescent BlueHampi with Chariot
2063mm x 129mmGreenish YellowEllora Caves
1063mm x 123mmChocolate BrownSun Temple, Konark
Indian Notes Color, Size and Reverse Feature

भारतीय सिक्‍के कौन जारी करता है? (Who Issues Indian Coins?)

Coinage Act, 1906 के तहत देश में सिक्‍के ढालने (Minting of Indian Coins) के लिए भारत सरकार (Government of India-GoI) के पास एकाधिकार (Solely Responsible) है।

भारतीय सिक्‍कों (Indian Coins) की डिजाइनिंग (Designing), प्रोडक्‍शन (Production) भारत सरकार ही करती है। जबकि Coinage Act, 2011 के तहत सप्‍लाई (Supply) भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) ही करता है।

भारतीय सिक्‍कों की ढलाई (Minting of Indian Coins)

देश में चार जगहों पर सिक्‍कों (Coins) की ढलाई (Minting) की जाती है। भारत सरकार (Government of India) की 4 मिंटिंग यूनिट (Minting Unit)- मुंबई (Mumbai), कोलकाता (Kolkata), हैदराबाद (Hyderabad), और नोएडा (NOIDA-UP) में है।

भारत में वर्तमान में 1, 2, 5, 10 रुपए के सिक्‍के (Coins) ढाले जाते है।

Scroll to top